11 Jun 2020 👓

आओ आओ

तलवा ज़मीन पर रखो जनाब ,
मिट्टी इस बार कुछ अलग लगेगी|

जिस सांस पे छोड़ के गए थे आप
उस सांस पे रुकी एक दुनिया मिलेगी |

विदा करके आये, उन लोगों के साथ
यहाँ कुछ लोगों में खुदकी यादें मिलेंगी |

रहो यहाँ जब तक मन है परिन्दे
यहाँ चुगने को दाना और चीनी मिलेगी |